Sajda


आँखिया जे वसदा महिए


सजदे किये हैं लाखों
लाखों दुआयें मांगी
पाया है मैंने फिर तुझे
चाहत की तेरी मैंने
हक में हवाएं मांगी
पाया है मैंने फिर तुझे
तुझसे ही दिल ये बहला
तू जैसे कलमा पहला
चाहू ना फिर क्यों मैं तुझे
जिस पल ना चाह तुझको
उस पल सजाये मांगी
पाया है मैंने फिर तुझे
हो सजदे किये हैं लाखों
लाखों दुआएं मांगी
पाया है मैंने फिर तुझे

जाने तू सारा वो दिल में जो मेरे हो
पढ़ ले तू आँखे हर दफ़ा
हो जाने तू सारा वो दिल में जो मेरे हो
पढ़ ले तू आँखे हर दफ़ा हाँ
नखरे से नाजी भी होते है राजी भी
तुझसे ही होते है खफा

जाने तू बाते सारी
कटती है राते सारी
जलते दिए सी अनबुझे
उठ उठ के रातो को भी
तेरी वफाये मांगी
पाया है मैंने फिर तुझे
ओ सजदे किये हैं लाखों
लाखों दुआए मांगी
पाया है मैंने फिर तुझे

चाहत के काजल से
किस्मत के कागज़ पे
अपनी वफायें लिख ज़रा
हाँ चाहत के काजल से
किस्मत के कागज़ पे
अपनी वफायें लिख ज़रा
बोले ज़माना यूँ मैं तेरे जैसी हूँ
तू भी तो मुझसा दिख ज़रा

मेरा ही साया तू है
मुझ में समाया तू है
हर पल ये लगता है मुझे
खुद को मिटाया मैंने तेरी बलाए मांगी
पाया है मैंने फिर तुझे
ओ चाहे तू चाहे मुझको ऐसी अदाए मांगी
पाया है मैंने फिर तुझे

Comments

Popular posts from this blog

Dil Galti Kar Baitha Hai Lyrics

Hum Naa Rahein Hum Song Lyrics

Dance Monkey